कोरोना काल के बीच यूपी बोर्ड की परीक्षाओं के लिए दिशा निर्देश जारी मई में पूरी हो जाएंगी यूपी बोर्ड की परीक्षाएं,

 
यूपी बोर्ड की परीक्षा : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड
प्रदेश में पंचायत चुनाव को देखते हुए प्रदेश सरकार ने यूपी बोर्ड की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट की परीक्षाओं के कार्यक्रम में बदलाव किया जा रहा है। बोर्ड की ओर से पंचायत चुनाव पूरा होते ही हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की परीक्षाएं शुरू हो जाएंगी। बोर्ड की ओर से परीक्षाएं समय से पूरी हों इसके लिए बोर्ड की ओर से पूरा ध्यान दिया जा रहा है। बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं मई में पूरी करने की तैयारी कर चुका है। यूपी बोर्ड की ओर से परीक्षा कार्यक्रम को अंतिम रूप देने का काम चल रहा है, कार्यक्रम की घोषणा एक-दो दिन में हो जाएगी।


यूपी बोर्ड की ओर से हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की परीक्षाएं पहले 24 अप्रैल से 12 मई के बीच होनी थीं, अब पंचायत चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया तीन अप्रैल शुरू होने और पूरी चुनाव प्रक्रिया दो मई तक पूरी होने के बाद सरकार ने यूपी बोर्ड परीक्षा कराने का फैसला किया है। मई के पहले हफ्ते से यूपी बोर्ड परीक्षाएं शुरू होकर मई के अंतिम सप्ताह तक पूरी हो जाएंगी। बोर्ड की ओर से पहले से जारी कार्यक्रम में जिस विषय की परीक्षा जिस क्रम में तय हुई थी, उसी क्रम बाद में भी परीक्षा कराए जाने की उम्मीद है। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों में हिंदी व प्रारंभिक हिंदी विषय की परीक्षा से ही शुरुआत हो सकती है।


बोर्ड परीक्षा में 56 लाख से अधिक परीक्षार्थी पंजीकृत

यूपी बोर्ड परीक्षा 2021 में हाईस्कूल, इंटरमीडिएट की परीक्षा में कुल 56,03,813  छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। परीक्षा में हाइस्कूल में 29,94,312 और इंटरमीडिएट में 26,09,501 परीक्षार्थी शामिल होंगे। परीक्षा में 31,47,793 छात्र और 24,56,020 छात्राएं पंजीकृत हैं। हाईस्कूल परीक्षा में 16,74,022 छात्र  एवं 13,20,290 छात्राएं पंजीकृत हैं। इंटरमीडिएट परीक्षा में 14,73,771 छात्र एवं 11,35,730 छात्राएं कुल मिलाकर 26,09,501 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं।

Post a comment

0 Comments