गौतमबुद्धनगर : किसान आन्दोलन हुवा खंत्म, भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति ने खत्‍म किया धरना, केंद्र को सौंपा 4 सूत्रीय मांग

किसान आन्दोलन


गौतमबुद्धनगर : उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर में दलित प्रेरणा स्थल पर चल रहे धरने को भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति ने समाप्त कर दिया है. गुरुवार को भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति के प्रतिनिधिमंडल ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) से मुलाकात की. इस दौरान किसानों की मांगों को लेकर 4 सूत्रीय मांग पत्र सौंपा. इस अवसर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं गौतमबुद्धनगर सांसद डॉ. महेश शर्मा भी उपस्थित रहे. ज्ञापन देने में भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति की ओर से राष्ट्रीय अध्यक्ष मास्टर श्योराज सिंह, राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव मलिक, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष प्रताप नागर एवं राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी विश्वास नागर उपस्थित रहे|

भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति ने कृषि मंत्री के सामने ये भी प्रस्ताव रखा कि जो वार्ता का क्रम सरकार और किसानों के बीच टूट चुका है उसे दोबारा से शुरू करने के लिए केंद्र सरकार किसानों को पुनः वार्ता का प्रस्ताव दें ताकि इस गतिरोध को तोड़ा जा सके. सरकार के लिए देश में किसानों के प्रति पुनः अच्छा संदेश जा सके. लंबी चर्चा एवं मंथन के बाद कृषि मंत्री ने भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति को आश्वस्त किया कि भाकियू लोक शक्ति के द्वारा उठाई गई सभी मांगों पर गंभीरतापूर्वक विचार किया जाएगा एवं अति शीघ्र समाधान किया जाएगा|


किसानों की 4 सूत्रीय मांग इस प्रकार थी|

1 - नए कृषि बिलों का क्रियान्वयन वांछित संशोधनों के बाद ही किया जाए|

2 - एमएसपी पर गारंटी कानून बनाया जाए|

3 - नए कृषि बिलों की संशोधन समिति में किसानों का पक्ष रखने के लिए कम से कम 1 सदस्य भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति का भी रखा जाए|

4 - 26 जनवरी के दिन हुए उपद्रव के नाम पर पुलिस द्वारा निर्दोष किसानों को परेशान ना किया जाए तथा भारत सरकार बड़ा दिल दिखाते हुए किसानों से नरमी से पेश आए|

Post a comment

0 Comments